Latest Nuskhe

loading...

कामशक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे, kamshakti badhane ke ayurvedic nuskhe

कामशक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे
कामशक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे

मित्रों आइये जानते हैं नामर्दी ,सेक्स में आई कमजोरी, शिथिलता, नपुंसकता की घरेलू दवाइयां जिसमें से अधिकांश आप सभी के किचन में उपलब्ध हैं कुछ सूखे मेंवे का प्रयोग विधि जिससे आप की कामशक्ति बढ़ जाएंगी आप इन उपायों को अवश्य आजमाए आपको फायदा होगा तो आइए जानते हैं ये नुख्शे

कामशक्ति बढ़ाने के आयुर्वेदिक नुस्खे,

बादाम की गिरी, मिश्री, सौंठ और काली मिर्च कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर, कुछ हफ्ते खाने से और ऊपर से दूध पीने से धातु (वीर्य) का खत्म होना बन्द होता है।

यौनशक्ति बढ़ाने के उपाय

बादाम को गर्म पानी में रात में भींगने दें। सुबह थोड़ी देर तक पकाकर पेय बनाकर 20 से 40 मिलीलीटर रोज़ पीऐं, इससे मूत्रजनेन्द्रिय संस्थान के सारे रोग खत्म हो जाते हैं।

kamshakti badhane ke ayurvedic nuskhe

कौंच के बीज के चूर्ण में तालमखाना और मिश्री का चूर्ण बराबर मात्रा में मिलाकर 3 - 3 ग्राम की मात्रा में खाने और दूध के साथ पीने से नपुंसकता (नामर्दी) ख़त्म होती है।

कौंच के बीजों की गिरी तथा राल ताल मखाने के बीज। दोनों को 25 - 25 ग्राम की मात्रा में लेकर पीसकर छान लें, फिर इसमें 50 ग्राम मिस्री मिला लें। इसमें 2 चम्मच चूर्ण रोज़ दूध के साथ खाने से लाभ होता है।

गिलोय, बड़ा गोखरू और आंवला सभी बराबर मात्रा में लेकर कूट पीसकर चूर्ण बना लें। 5 ग्राम चूर्ण रोज़ मिस्री और घी के साथ खाने से प्रबल मैथुन शक्ति विकसित होती है।

जायफल का चूर्ण लगभग आधा ग्राम शाम को पानी के साथ खाने से 6 हफ्ते में ही धातु (वीर्य) की कमी और मैथुन में कमजोरी दूर होगी।

जायफल का चूर्ण एक चौथाई चम्मच सुबह -शाम शहद के साथ खाऐं और इसका तेल सरसों के तेल में मिलाकर शिश्न (लिंग) पर लगाएं।

बेल के पत्तों का रस 20 मिली लीटर निकालकर, उसमें सफेद जीरे का चूर्ण 5 ग्राम, मिस्री का चूर्ण 10 ग्राम के साथ खाने और दूध पीने से शरीर की कमजोरी ख़त्म होती है।

सफेद मूसली और मिस्री, बराबर मिलाकर पीसकर चूर्ण बना कर रखें और चूर्ण बनाकर 5 ग्राम सुबह - शाम दूध के साथ खाने से शरीर की शक्ति और खोई हुई मैथुन शक्ति, वापस मिल जाती है।

सफेद मूसली, सतावर, असगंध 50 - 50 ग्राम कूट छान कर, 10 ग्राम दवा सोते समय 250 मिली लीटर, लगभग एक गिलास गर्म दूध में मिश्री के संग मिलाकर लें।
सफेद मूसली और मिस्री, बराबर मात्रा में कूट पीसकर चूर्ण बनाकर 6 ग्राम की मात्रा में खाने से नपुंसकता (नामर्दी) खत्म होती है।

भीगे चने सुबह - शाम चबाकर खाने से ऊपर से बादाम की गिरी खाने से, मैथुन शक्ति बढ़ती है और नंपुसकता ख़त्म होती है।
कामेच्छा बढ़ाने के उपाय
शतावर, असगंध, एला, कुलंजन और वंशलोचन का चूर्ण बनाकर रखें। 3 ग्राम चूर्ण में 6 ग्राम मिश्री को मिलाकर खाने से और फिर ऊपर से दूध पीने से कुछ महीनों में नपुंसकता (नामर्दी) ख़त्म होती है।

मर्दाना ताकत बढ़ाने के उपाय

शतावर का चूर्ण 10 ग्राम से 20 ग्राम को चीनी मिले दूध में, सुबह - शाम डालकर पीऐं, इससे नपुंसकता दूर होती है। शरीरकी कमजोरी भी दूर होती है।
सेमल के पेड़ की छाल के 20 मिली लीटर रस में मिस्री मिलाकर, पीने से शरीर में वीर्य और मैथुन शक्ति बढ़ती है।

महिलाओं के लिए कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे

10 ग्राम सेमल के चूर्ण और चीनी को 100 मिली लीटर पानी के साथ घोट कर सुबह - शाम लेने से बाजीकरण यानी संभोग शक्ति ठीक होती है और नपुंसकता भी दूर हो जाती है।
उत्तेजना बढ़ाने के उपाय
बड़ी गोखरू का फांट या घोल सुबह - शाम लेने से काम शक्ति यानी संभोग की वृद्धि दूर होती है। 250 मिलीलीटर को खुराक के रूप में सुबह और शाम सेवन करें।
मित्रों ऊपर मैंने एक साथ कई विधियां आप सभी को बताया है आप उपरोक्त कोई एक विधि आजमाये आपको फायदा होगा।

This Is The Newest Post

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !!
आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।
EmoticonEmoticon