Latest Nuskhe

loading...

कैंसर का इलाज नीम से कैसे संभव है? cancer ka ilaj neem se kaise sambhav hai

cancer ka ilaj neem se
cancer ka ilaj neem se

‘गांव का दवाखाना’ कही जाने वाले नीम सैकड़ों गुणों से परिपूर्ण हैं। ये कई तरह के रोगों के इलाज में काम आता है। नीम को संस्कृत में ‘अरिष्ट’ भी कहा जाता है, जिसका मतलब होता है श्रेष्ठ, पूर्ण और कभी खराब न होने वाला। नीम के अर्क में मधुमेह यानी डायबिटीज़, बैक्टिरिया और वायरस से लड़ने के गुण पाए जाते हैं। नीम के तने, जड़, छाल और कच्चे फलों में शक्ति-वर्धक और मियादी रोगों से लड़ने का गुण भी पाया जाता है। इसकी छाल खासतौर पर मलेरिया और त्वचा संबंधी रोगों में बहुत उपयोगी होती है।

नीम का पत्ते से कैंसर का उपचार

नीम के पत्ते भारत से बाहर ३४ देशों को निर्यात किए जाते हैं। इसके पत्तों में मौजूद बैक्टीरिया से लड़ने वाले गुण मुंहासे, छाले, खाज-खुजली, एक्जिमा वगैरह को दूर करने में मदद करते हैं। इसका अर्क मधुमेह, कैंसर, हृदयरोग, हर्पीस, एलर्जी, अल्सर, हिपेटाइटिस (पीलिया) वगैरह के इलाज में भी मदद करता है। दांत का दर्द है, तो इसकी दातून का इस्तेमाल किया जाता है।

बैक्टीरिया से लड़ता नीम

आपके भीतर इतने सारे जीव यानि बैक्टीरिया हैं कि आप कल्पना भी नहीं कर सकते। इनमें से ज्यादातर बैक्टीरिया हमारे लिए फायदेमंद होते हैं। इनके बिना हम जिंदा नहीं रह सकते, लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं, जो हमारे लिए मुसीबत का कारण बन सकते हैं। अगर आप नीम का सेवन करते हैं, तो वह हानिकारक बैक्टीरिया को आपकी आंतों में ही नष्ट कर देता है। नहाने से पहले अपने बदन पर नीम का लेप लगा कर कुछ वक्त तक सूखने दें, फिर उसको पानी से धो डालें। सिर्फ इतने से ही आपका बदन अच्छी तरह से साफ हो सकता है। इसके अलावा नीम के कुछ पत्तों को पानी में डाल कर रात भर छोड़ दें और फिर सुबह उस पानी से नहा लें।

एलर्जी के लिए नीम

नीम के पत्तों को पीस कर पेस्ट बना लें, उसकी छोटी-सी गोली बना कर सुबह-सुबह खाली पेट शहद में डुबा कर निगल लें। उसके एक घंटे बाद तक कुछ भी न खाएं, जिससे नीम ठीक तरह से आपके सिस्टम से गुजर सके। यह हर प्रकार की एलर्जी में फायदा करता है।

बीमारियों के लिए नीम

नीम कैंसर-कोशिकाओं को नष्ट कर देता है। इससे कैंसर वाली कोशिकाओं की तादाद एक सीमा के अंदर रहती है। नीम में ऐसी भी क्षमता है कि अगर आपकी रक्त धमनियों(आर्टरी) में कहीं कुछ जमना शुरु हो गया हो तो ये उसको साफ कर सकती है।

मधुमेह (डायबिटीज) के रोगियों के लिए नीम

भी हर दिन नीम की एक छोटी-सी गोली खाना बहुत फायदेमंद होता है। यह उनके अंदर इंसुलिन पैदा होने की क्रिया में तेजी लाता है।

1 टिप्पणियाँ so far

Very nice thanks for sharing check out our blog too prepaid virtual debit card

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !!
आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।
EmoticonEmoticon